कंप्यूटर की विशेषताएं – characteristics of computer

हम सब कम्प्युटर का उपयोग करते है । कम्प्युटर के आविष्कर के बाद से इसने उपयोग करता के सभी कामो को बहुत ही कम समय मे और जदली से किया है । समय के साथ साथ इसमे बहुत सारे बदलाव भी आए है । इसको विशेषता जो आज के 100 साल पहले थी वो आज के कम्प्युटर की तुलना मे कुछ भी नहीं है । आज के कम्प्युटर अपने पिछले कम्प्युटर से बहुत अलग है और इनकी काम करने की क्षमता भी अधिक है ।

हमने अपनी पिछली पोस्ट मे कम्प्युटर के आविष्कार , कम्प्युटर की परिभाषा और कम्प्युटर का फुल्ल फॉर्म के बारे मे बताया था । और आज हम आपको  कंप्यूटर की 10 विशेषताएं (characteristics of computer) और इसकी कंप्यूटर की क्षमता क्या है बताने वाले है ।


characteristics of computer कंप्यूटर की विशेषताएं

characteristics of computer

image source – unplash 

High Speed (उच्च गति) : 

कम्प्युटर अपने कामो को बहुत गति से करने के लिए जाना जाता है  जब से कम्प्युटर का आविष्कार हुआ है तब से इसने हमारे सभी कामो को बहुत ही आसान बना दिया है । जिस काम को एक  आदमी को जितना समय लगता है कम्प्युटर उस काम को कुछ ही सेकंड मे कर देता है । वर्तमान में कंप्यूटर की गति को गीगाहर्टज, (GHZ) और मेगाहार्ट्स (MHZ) के अनुसार मापा जाता है.

Computer एक बेहद Super-fast Machine है और ये इसकी सबसे बड़ी विशेषता है । Computer की Speed को MIPS (Million of Instructions per Second) में मापा जाता है। एक Computer में प्रति Second लाखों निर्देशों (Instructions) को निष्पादित करने की क्षमता होती है। बिना किसी गलती के ।


Accuracy (सटीकता) :

Computer की दूसरी सबसे बड़ी विशेषता Accuracy या शुद्धता  है। इसके द्वारा की जाने वाली प्रत्येक कैलकुलेशन या रिज़ल्ट 100% Correct होती है।

मनुष्य अगर किसी कामो को करे तो उसमे 100 की सटीकता नही हो सकती । और अनेका कमी निकलती है पर कम्प्युटर के द्वारा किए गए  काम मे कोई कमी नही होती है । ये सटीकता के कारण कम्प्युटर को हर एक कामो मे उपयोग किया जाता है ।


Reliability (विश्वसनीयता) :

कम्प्युटर एक बहुत ही विश्वनीयया भरोसेमंद  मशीन है आप इसके द्वारा किए गए काम मे भरोषा कर सकते है । इसी के कारण आज के समय मे इसका उपयोग हर एक स्थान मे किया जा रहा है जैसे की – आज बड़े-बड़े संगठन, संस्थान और कंपनियां अपने कार्यो के लिए Computer पर निर्भर है।

computer द्वारा प्रदर्शित किए जाने वाले आउटपुट की गुणवत्ता लगातार बनी रहती है। इसी कारण कंप्यूटर को Reliable Machine कहा जाता है। जो हर समय लगातार काम को करती रहती है । बिना रुके ।


 Storage Capacity (भंडारण क्षमता) :

computer मे बहुत बड़ी मात्र मे data के भंडारण की क्षमता होती है । जिसे आप अपने आवश्यकता के अनुसार कम और बड़ा सकते है । आज के computer मे पुराने computer की तुलना मे storage की जगह बहुत होती है ।

इसमे data को स्टोर करने के लिए   SSD (Solid-state drive) और Hard Drive का उपयोग किया जाता है। इन्हें सेकंडरी स्टोरेज डिवाइस कहते है। जहा से ये डाटा को लेकर अपने कामो को करता है ।

एक Computer की Storage Capacity को Kilobytes (KB), Megabytes (MB), Gigabytes (GB), और Terabytes (TB) में मापा जाता है।

जिसमे

1021 kb = 1 MB

1021 MB = 1 GB

1021 GB = 1 TB होती है ।


Versatility (विविधता) :

computer को हम इसकी विविधता के लिए भी जानते है । क्योकि हम इससे अपने मन पसंद कामो को करवा सकते है । Computer विभिन्न प्रकार के कार्य कर सकता है। इसलिए इसे Versatile Machine कहा जाता है। Computer का उपयोग आज कल विभिन्न क्षेत्रों से सम्बंधित समस्याओं को हल करने के लिए बड़ी मात्र मे किया जा रहा  है। जैसे की  –  स्कूलों, अस्पतालों, व्यवसायों, सरकारी संगठनों, रेलवे स्टेशनों, एयरपोर्ट और घरों में अलग-अलग उद्देश्यों और कामो  के लिए जाता है।

इसका  केवल विज्ञान और इंजीनियरिंग से सम्बंधित जटिल गणितिय समस्याओं को हल कर सकते है, बल्कि अगले ही पल इन्हें मनोरंजन के लिये उपयोग किया जा सकता है।


 Diligence (कर्मठता या निरन्तरता) :

एक मनुष्य कितने समय तक काम कर सकता है एक समय के बाद उसे आराम की जरूरत होती है । पर कम्प्युटर एक मशीन है जिसे न थकावट होती है और न ही किसी कमी । जिससे की आप इससे 24 घंटे काम ले सकते वो बिना किसी रुकावट के । यही कारण है, कि आज मनुष्य कई कार्यो के लिए Computer पर निर्भर है।


Efficiency (कार्य-कुशलता) :

जहा समय के साथ कम्प्युटर और power full बन गए है जो की सभी काम को सटीकता के साथ कराते है । Computer की कार्यकुशलता समय के साथ कम नही होती है। वे प्रत्येक और हर एक टास्क को उसी efficiency के साथ कर सकते है। बिना किसि कमी या गलती के ।

यहां तक कि अगर हमने इसे  लाखों निर्देशों को निष्पादित करने काम भी  दिया जाए, तो भी वे उन सभी को उसी स्पीड और कुशलता के साथ निष्पादित करने में सक्षम है। ये सब Computer Processor (CPU) के कारण सम्भव हो पाता है, जो किसी भी प्रोसेस को निष्पादित करने में कोई भेदभाव नही करता है।

जिसमे और भी जरूरी system लगे होते है । जिनहे input और output device बोला जाता है । ये सब मिलकर एक power full मशीन को बनाते है ।


Secrecy (गोपनीयता) :

कम्प्युटर हमे अपने डाटा को सुरक्षति रखने मे भी मदद करता है यदि हम  अपने डेटा को दूसरों की पहुँच से दूर रखना चाहते है, तो Computer आपको उस डेटा को गुप्त रखने या छुपाने में मदद करता है। जिसमे आप Password की मदद से अपने डेटा को सुरक्षित रख सकते है। जिसके बारे मे कोई और नही जान सकता ।

इसमे हम अगल अलग setting और सॉफ्टवेर के मदद से अपने कम्प्युटर को और भी secure बन सकते है । इसके अलावा Anti-malware Protection का उपयोग कर सकते है, जो विभिन्न प्रकार के कंप्यूटर वायरस से आपके डेटा को सुरक्षित रखता है।


Automation (स्वचालन) :

Computer एक स्वचालित मशीन है, जो दिए गए कार्य को स्वचालित रूप से करने में सक्षम होते है। जिसे  एक बार जब उपयोग करता निर्देश Computer को   देता है, उसके बाद आउटपुट या रिज़ल्ट देने तक ये अपने कामो को स्वमAutomatic ही करता है

जिसमें मानव हस्तक्षेप बार बार  की जरूरत  नही होती है। इसका मतलब ये हुआ कि Computer किसी कार्य के संचालन के लिये पूरी तरह से उपयोगकर्ता पर निर्भर नही होता है। इसे एक बार सभी डाटा data देने के बाद ये सब कुछ स्वम ही कर लेता है ।


Multitasking (मल्टीटास्किंग) :

ये Computer की एक बहुत बड़ी विशेषता है कि वे एक समय या एक साथ  मे कई कार्य कर सकते है, इस प्रक्रिया को Multitasking कहा जाता है। हम इसमे अगर गाना सुन रहे है तो इसके साथ साथ हम इसमे internet भी चला सकते है , video भी देख सकते है । इसके कारण कम्प्युटर की उपयोगिता बड़ी है ।

और इसे एक उपयोगी machine बनाता है ।


uniformity (एकरूपता)

कम्प्युटर के सभी कामो को समान और एकरूपता से करता है । इसमे कोई कमी नही होती है । किसी प्रकार की त्रुटि नही होती है ।


Decision (निर्णय) 

कम्प्युटर user द्वारा दिये गए सभी  कामो को करने के लिए 1 सेकंड मे निर्णय लेता है और उनको बारी बारी से करता है ।


limitation off computer

brain less (बुद्धिहीन)

computer एक machine है जिसमे दिमाग नही होता है । ये अपने CPU या जरूरी component की मदद से सभी कामो को करता है । user द्वारा दिये गए निदेशो का पालन करता है । ये स्वम से सोच के कोई काम नही कर सकता  ।

खर्चीला (expensive)

computer मे गले component जैसे की hardware और software महंगे होते है । और इन्हे समय समय पर बदलना भी होता है ।

virus (वाइरस )

computer को चलाने वालों को वाइरस के बारे मे पता ही होगा । वाइरस एक प्रकार से computer के सॉफ्टवेर और इसकी काम करने की क्षमता को प्रभावित करता है । या उसे बंद कर देता है । virus को bug भी बोला जाता है ।

electricity (बिजली )

कम्प्युटर को चलाने के लिए हमेशा बिजली की जरूरत होती है । इसके बिना ये काम नही कर सकता है ।

hang ( हैंग )

कम्प्युटर मे हैंग होने की समस्या होती है हर एक  कम्प्युटर के काम करने की क्षमता होती है अगर उसके क्षमता से अधिक काम लिया जाए तो वो हैंग hang  या slow हो जाता है ।


निष्कर्ष

प्यारे दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा कंप्यूटर की विशेषता (computer ki  visheshta) या   characteristics of computer अगर आपको कोई भी कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं आप का कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है आगे भी इसी तरह से आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करता रहूँगा।

और पड़े

Leave a Reply