KYC full form : जानें KYC का Full Form क्या है?

kyc full form – आपने भी kyc के बारे मे सुना होगा । और आप मे से बहुत से लोगो ने अपना kyc करवाया भी होगा । और आपके मन मे kyc से जुड़े बहुत सारे सवाल आते होंगे जैसे की  KYC क्या है? केवाईसी का क्या मतलब है? KYC Full Form kya hai? , kyc full form , “KYC” का इस्तेमाल क्यों होता है? , केवाईसी के फायदे । 

kyc full form

दोस्तो आज कल सभी काम digital किया जाता है या online के द्वारा किया जाता है । जब हमे बैंक  या अन्य किसी संस्था द्वारा , आपको यह केवाईसी फॉर्म जमा करने के लिए कहा जाता है। आज कल  सिर्फ बैंकों में ही नहीं, आज विभिन्न प्रकार के Payment system जैसे की Paytm, Phonepe, Amazon Pay, Mobikwik आदि के लिए भी KYC जरूरी हो गया है। लेकिन बहुत से लोगों को आज भी kyc से जुड़ी बहुत सारी जानकारी के बारे मे पता नही होता है । जब KYC शब्द आता है तो वे सोचने लग जाते है की आखिर KYC ka full form kya hai KYC क्या होता है ? KYC की प्रक्रिया कैसे पूरी करें ?

तो आज हम आपको इन सब के बार मे सभी जानकारी देने वाले है । ताकि आपको केवाईसी से जुड़ी कोई समस्या न हो ।


KYC full form

KYC का Full Form है “Know your customers“. और कभी कभी इसे “Know your Client” भी कहा जाता है. KYC यानी (Know Your Customer) को साधारण हिंदी में परिभाषित करें तो कहेंगे कि कस्टमर के बारे में पूरी जानकारी होना है ।

हिंदी में KYC का अर्थ है “अपने ग्राहकों को जानें.” । जिसमे उसके द्वारा दी गई जानकारी को verify करना है । KYC भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा जारी की गई एक Identity Verification Process है। यह प्रक्रिया दो तरह से की जा सकती है, एक Online और दूसरी Offline. kyc full form की जानकारी आपको मिल गई ।

KYC Full Form in HindiKnow Your Customers
KYC Full Form in Hindi 2Know Your Clients
KYC Meaning in Hindiअपने ग्राहकों की पहचान करना

Kyc क्या है ?

Kyc केवाईसी एक प्रक्रिया है जिसके तहत फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशंस अपने कस्टमर का आइडेंटिफिकेशन और एड्रेस प्रूफ मे दी गई सभी जानकारी को वेरीफाई करता है। जहां सभी ग्राहक की जानकारी जैसे व्यक्ति का नाम, पता, जन्म तिथि और अन्य व्यक्तिगत जानकारी ली जाती है.

किसी भी ग्राहक के बचत खाते, म्यूचुअल फंड या दूसरे किसी account को open करने के लिए  केवाईसी प्रक्रिया होना जरूरी है। एक व्यक्ति का KYC केवल एक बार account open के समय  या अगर किसी कारण से  खाता करना हो तो केवाईसी दोबारा करवाना  जरूरी होता है । kyc full form और kyc क्या है ये सब आप जान गए होंगे ।

KYC की प्रक्रिया भारत सरकार द्वारा 2002 में शुरू की गई थी और 2004 में यह घोषणा की गई थी कि सभी बैंक ग्राहकों को इस प्रक्रिया को पूरा करना होगा। और दिसंबर 2005 से, RBI ने सभी बैंक ग्राहकों के लिए इस प्रक्रिया को पूरा करना अनिवार्य कर दिया है। इस KYC (Know your Customers) को जमा करने का मुख्य कारण यह है कि बैंक यह सुनिश्चित करता है कि व्यक्ति का पहचान पत्र सही हो।


E KYC Full Form in Hindi

ई केवाईसी का फुल फॉर्म इलेक्ट्रॉनिक केवाईसी(electronic kyc ) होता है। आप मे से बहुत लोगो ने e kyc अपना करवाया भो होगा । e kyc एक एसी प्रक्रिया है जिसमे आपके सभी id proof का verification  electronic machine के द्वारा किया किया जाता है ।

आज भारत के लगभग सभी नागरिक के पास आधार कार्ड है, और आधार कार्ड में किसी भी व्यक्ति का बायोमेट्रिक डिटेल्स दर्ज रहता है, तो कोई भी व्यक्ति अपने अंगूठे को फिंगर रीडर पर दर्ज कर अपनी आईडेंटिटी को प्रूफ कर सकता है।

  • JEE फुल्ल फॉर्म 

KYC (केवाईसी) की जरूरत

Kyc किसी bank या संसथा दोनों के लिए जरूरी है । क्योकि kyc के द्वारा दिये गए सभी id का verification किया जाता है की दी गई सभी जानकारी सही हो और उसी आदमी की हो ।

सरल भाषा मे बोला जाए तो केवाईसी प्रक्रिया के तहत किसी भी व्यक्ति का आईडी कार्ड वेरीफिकेशन, डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन और फेस वेरिफिकेशन किया जाता है, जिससे ग्राहक और उसके द्वारा बताई गई जानकारियां प्रमाणित होती हैं।

केवाईसी के कारण आज बैंकिंग प्रक्रिया बहुत ही सुरक्षित बन पाई है, और आरबीआई ने सभी बैंकों के लिए अपने ग्राहकों का केवाईसी, रेगुलर बेसिस पर अपडेट करते रहना जरूरी कर रखा है।


KYC (केवाईसी) डॉक्युमेंट्स की सूची

  • ।आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • वोटर आईडी कार्ड
  • राशन कार्ड
  • नरेगा कार्ड
  • नेशनल पापुलेशन रजिस्टर से लेटर

केवाईसी के फायदे

  • केवाईसी के कारण समय की बचत हो जाती है ।
  • Bank की प्रक्रिया आसान हो गई है ।
  • केवाईसी के कारण लोग बहुत तरह के बैंकिंग फ्रॉड से बच पाते हैं
  • केवाईसी के कारण सरकार और आरबीआई सभी तरह के बैंकिंग ट्रांजैक्शंस पर नजर रख पाती है
  • सरकार को money-laundering रोकने में केवाईसी के कारण काफी मदद मिलती है
  • केवाईसी के कारण टेररिज्म को होने वाली फंडिंग में काफी कमी आई है
  • केवाईसी के कारण लोगो को को बहुत सुविधा हुई है ।

बैंक केवाईसी क्या है

जब हम अपना account bank मे open करने जाते है तो बैंक के द्वारा हम से कुछ दस्तावेज़ document मांगे जाते है । जैसे की – id proof , addsress proof आदि । इन सब का बैंक के द्वारा मिलना किया जाता है की  के द्वारा किया जाने वाला सभी डॉकयुमेंट का verification किया जाता है । जिसमे दी सभी जानकारी को check किया जाता है । इसी को bank kyc बोला जाता है ।


conclusion

प्यारे दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे आर्टिकल के माध्यम से समझ आ गया होगा की kyc full form क्या होता है ? अगर आपको कोई भी कठिनाई आए तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं आप का कमेंट हमारे लिए महत्वपूर्ण है आगे भी इसी तरह से आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से और चीजों के बारे में जानकारी प्रदान करता रहूँगा।


और पढे 

Leave a Reply