Salmon Fish In Hindi | सालमन मछली के फायदे और नुकसान

Salmon Fish In Hindi – अगर आप मांसाहारी (Non-vegetarian)  हैं और समुद्री भोजन खाना पसंद करते हैं तो ये खबर आपके काम की है. इस खबर में हम आपके लिए एक ऐसी मछली के फायदों के बारे में बता रहे हैं, जो सेहत के लिए बेहद लाभकारी है. इस मछली का नाम है सैल्मन फिश (salmon fish). जो लोग समुद्री भोजन (seafood) खाना पसंद करते हैं वो इसके बारे में (benefits of Salmon)  यकीनन अच्छी समझ रखते होंगे.सालमन मछली के फायदे .

salmon fish in hindi

King Salmon fish name in Hindi

  1.  सालमन मछली का रंग हल्का गुलाबी होता है। दिखने में यह मछली सफेद रंग की होती है। वैसे कुछ सालमन नीली और लाल भी होती है। इनका रंग आयु और पानी के अनुसार चेंज हो जाता है।
  2. इस मछली का आकार 20 इंच से लेकर करीब 5 फ़ीट होता है। चेरी सालमन मछली सबसे छोटी सालमन है जबकि चिनूक सालमन सबसे बड़ी सालमन है।
  3.  सालमन मछली में ओमेगा 3 एसिड पाया जाता है। इस एसिड के कई फायदे है। यह दिल, त्वचा, दिमाग के स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी है। इसके अलावा विटामिन ए और डी भी पाया जाता है। सालमन मछली प्रोटीन का भी रिच सोर्स है।
  4. इस मछली की मुख्य विशेषता यह है की सालमन अपने अंडे पानी के मुहाने पर देती है। इन अंडों से ही बच्चे निकलते है और आमतौर पर अंडे देने के बाद सालमन फिश मर जाती है।
  5. सालमन मछली कहां पाई जाती है – सालमन मछली (Salmon Fish In Hindi) ताजे और खारे दोनों प्रकार के पानी में पाई जाती है। यह फिश पूरी दुनिया में मिलती है। खासकर महासागरों में सालमन मछली मिलती है।
  6. यह मछली माइग्रेट भी करती है। मीठे पानी से खारे पानी की और यह प्रवास करती है। समुद्र में भी दूर दूर तक सालमन फिश प्रवास करती है। ताजे पानी में सालमन मछली पैदा होती है लेकिन खारे पानी की और प्रवास करती है। सालमन उन मछलियों में आती है जो खारे और ताजे दोनों प्रकार के पानी में रह सकती है।

indian salmon in hindi

  1. सालमन फिश (Salmon Fish) की Life Cycle उनके अंडे से निकलते हुए शुरू हो जाती है। अंडे से निकले इस बच्चे के साथ योक लगा होता है। सालमन की यह स्टेज एल्विन कहलाती है। कुछ हफ़्तों तक योक उसके शरीर से लगा रहता है और मछली योक से न्यूट्रिशन लेती है। कुछ बड़ी होने पर सालमन फिश बाहरी भोजन लेने लग जाती है। इस समय की अवस्था को सालमन फ्राई कहते है।
  2. कुछ और बड़ी होने पर यह मछली ट्रेवल करती है और दूर समुद्र में जाती है। एल्विन से लेकर वयस्क होने तक केवल 10 फीसदी सालमन ही जिंदा रह पाती है। वयस्क सालमन मछली वापस अपने घर ताजे पानी में लौटती है जो एक रिसर्च का विषय है। कैसे सालमन को अपने घर का रास्ता पता होता है।
  3. इन मछलियों की शिकारी मछलियां भी होती है। बड़ी मछलियां छोटी को खा जाती है। सालमन को व्हेल, डॉल्फिन, भालू इत्यादि खाते है। सालमन फिश का मुख्य भोजन छोटी मछली, झींगा इत्यादि जलीय जीव होते है।
  4.  मछलियों में “Spawning” नामक क्रिया होती है जिसमे नर और मादा मछली अंडे और स्पर्म रिलीज करती है। सालमन मछली भी यह प्रोसेस करती है लेकिन ज्यादातर सालमन इस क्रिया के बाद जिंदा नही रहती है। मादा सालमन पानी के नीचे की तह में अंडों को डालती है और नर इन अंडों को स्पर्म से ढक देता है। एक जगह या घोंसले में करीब 5 हजार अंडे होते है। सालमन मछली ऐसा कई बार करती है।
  5.  इस मछली का खून ठंडा होता है। इसकी पूरी बॉडी पर स्कैल्प होती है। यह मछली भी बाकी मछलियों की तरह गलफड़ों से सांस लेती है। सालमन फिश में सूंघने और महसूस करने की शक्ति होती है।
  6. सालमन मछली (Salmon Fish) का औसत जीवनकाल 3 से 7 वर्ष के करीब होता है। ज्यादातर मछलियां शिकारियों द्वारा खा ली जाती है।

sardine fish in hindi 


सालमन मछली के फायदे – Benefits of Salmon Fish in Hindi

1. हृदय स्वास्थ्य के लिए

heart

सैल्मन मछली में मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं. इसके अलावा यह धमनियों और नसों को लचीला बनाए रखते हैं.नियमित रूप से सैल्मन मछली का सेवन करने से यह कार्डियोवैस्‍कुलर ऊतकों की क्षति को कम करने और इनकी मरम्‍मत में भी सहायक होते हैं. यह दिल को स्वस्थ रखती है.

2. इम्यूनिटी बूस्ट करती है सैल्मन मछली

immunity

अगर आपकी इम्यूनिटी कमजोर है, तो सैल्मन फिश का सेवन जरूर करें. सैल्मन फिश में शामिल इम्यून बूस्टिंग न्यूट्रिएंट्स आपके शरीर की इम्यून पावर को बूस्ट करते हैं. यह ना सिर्फ इम्यून सिस्टम को बेहतर करता है, बल्कि इसके सेवन से आंखों का स्वास्थ्य भी बेहतर होता है.

3. वजन घटाने के लिए

weight loss

सालमन मछली का उपयोग वजन घटाने के काम भी आ सकता है। सीडीसी (सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन) के अनुसार वजन घटाने के लिए कम कैलोरी वाले आहार का सेवन वजन को नियंत्रित करने में लाभ पहुंचा सकता है।

4. दिमाग को बढ़ानी है सैल्मन मछली

brain

ओमेगा-3 फैटी एसिड की अच्‍छी मात्रा वाले खाद्य पदार्थ मस्तिष्‍क के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं.सालमन मछली में पाए जाने वाले ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन दिमाग की कार्यक्षमता में सुधार कर सकता है, जिससे याद करने की क्षमता, नई चीज सीखने की क्षमता और निर्णय लेने की क्षमता में सुधार हो सकता है

5. प्रोटीन से भरपूर सैल्मन मछली

protein

सैल्मन मछली प्रोटीन के मामले में किसी नॉनवेज आइटम से कम नहीं है. अन्य मछली की तुलना में इस मछली में अधिक प्रोटीन मौजूद होता है सालमन मछली को प्रोटीन खाद्य पदार्थ के एक बेहतर स्रोत के रूप में उपयोग किया जा सकता है। प्रोटीन मानव शरीर के लिए जरूरी पोषक तत्व है। इसकी पूर्ति हड्डियों, मांसपेशियों और त्वचा के लिए सकारात्मक रूप से कार्य करती है  यह विटामिन-बी और विटामिन-डी के लिए भी बेस्ट मानी जाती है.

6. सेलेनियम के उच्च स्रोत के रूप में

सालमन मछली में सेलेनियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। सेलेनियम मुख्य रूप से दिमाग, हृदय स्वास्थ्य और इम्यून सिस्टम के लिए सक्रिय रूप से लाभदायक हो सकता है इसके सेवन से शरीर में सेलेनियम की पूर्ति की जा सकती है।

7. बालों के लिए सालमन मछली के लाभ

hair fall

एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन) के मुताबिक बालों को स्वस्थ रखने के लिए सालमन मछली में मौजूद विटामिन-डी3 का सेवन लाभदायक हो सकता है। विटामिन डी-3 बालों को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है

101 मछली के नाम 

8. त्वचा के लिए सालमन मछली के फायदे

cancer

Salmon Fish Oil Benefits in Hindi – जैसे की हमे पता है सालमन मछली को प्रोटीन का अच्छा स्रोत माना जाता है।जिसके वजह से त्वचा के लिए भी सालमन मछली के फायदे देखे जा सकते हैं। प्रोटीन का सेवन हमारी मांसपेशियों के साथ-साथ त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक हो सकता है। इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह लेने के बाद मछली को आहार में शामिल किया जा सकता है

9. कैंसर की स्थिति से बचाव के लिए

cancer

कैंसर से बचने के लिए भी सालमन मछली का सेवन किया जा सकता है। जैसा कि हमने ऊपर बताया कि सालमन मछली में ओमेगा-3 फैटी एसिड पाया जाता है। यह फैटी एसिड कोलन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर से बचाने में मदद कर सकता है

10. विटामिन-बी और विटामिन-डी के रूप में

vitamins

जैसे की हमे पता है सालमन मछली को प्रोटीन और विटामिन-बी और विटामिन-डीका अच्छा स्रोत माना जाता है इसको सेवन से होने वाले फायदे  देखे जा सकते हैं। सालमन मछली में विटामिन-बी समूह का विटामिन-बी3, बी1, बी12 पाया जाता है। विटामिन-बी3 के सेवन से पिलैग्रा (Pellagra) यानी शरीर में नियासिन की मात्रा में कमी जैसे रोग से बचने में मदद मिल सकती है


सालमन मछली के नुकसान – Side Effects of Salmon Fish in Hindi

सालमन मछलियों को पकड़ने के लिए अगर किसी रासायनिक पदार्थ का इस्तेमाल किया गया है, तो यह नुकसानदायक हो सकता है।

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सालमन सेवन के बारे में सावधान रहना चाहिए क्योंकि इसमें कई रसायन जैसे – पॉलीक्लोरिनेटेड बीफेनील्स (Polychlorinated biphenyls) और मरकरी शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा, बच्चों को भी डॉक्टरी सलाह के बाद ही सलमान मछली का सेवन कराएं।

जिन लोगों को जानवरों के प्रोडक्ट खाने से एलर्जी हो, वो डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन शुरू करें।

सावधानी

Salmon Fish – स्वास्थ्य फायदों के लिए इस्तेमाल करने से पहले एक बार डॉक्टर की भी राय ली जा सकती है। ऐसी सालमन मछलियों को खाने से बचें, जिनको समुद्र से निकालने के बाद कई दिनों तक बाहर रखा गया हो। जो लोग किसी गंभीर बीमारी का इलाज करवा रहे हैं, ऐसे लोग डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें। अपने डॉक्टर के परामर्श और उनके बताया अनुसार ही किसी चीज का सेवन करे । 


निष्कर्ष 

Salmon Fish In Hindi  – हमे उम्मीद है की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद सलमों मछली से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारी आपको मिल गई होगी ,अगर इस पोस्ट मे  किसी प्रकार कोई की कमी हो हो तो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते हो ।Salmon Fish .


और पड़े 

मछली 

कम्प्युटर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!